मुख पृष्ठ Policies and Schemes नमक कामगारों के लिए योजना-प्रौद्योगिकी उन्नयन संबंधी प्रशिक्षण

नमक कामगारों के लिए योजना-प्रौद्योगिकी उन्नयन संबंधी प्रशिक्षण

Brief about the Scheme

नमक कारीगर अभी भी नमक उत्पादन हेतु पुरानी पद्धति अपना रहे हैं और नमक कार्यों का लेआउट पुराना है। इसलिए, निश्चित जलवायु स्थितियों के तहत प्रति एकड़ उच्च उपज के साथ अच्छी गुणवत्ता वाले नमक के उत्पादन के लिए उनको प्रशिक्षण दिया जाना आवश्यक है। यह योजना वर्ष 2012-13 में शुरू की गई थी।

  1. विस्तृत विवरण:

    क्रमांक

    विवरण

    (I)

    योजना के उद्देश्य

     

    आधुनिक नमक प्रौद्योगिकी की जानकारी के लिए नमक कामगारों को प्रशिक्षण देना ताकि उत्पादित नमक की गुणवत्ता तथा मात्रा में सुधार किया जा सके।

     

    (II)

    कवरेज तथा पात्रता

     

    प्रथम चरण में, सीएसएमसीआरआई, भावनगर द्वारा मास्टर प्रशिक्षुओं के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। इन मास्टर प्रशिक्षुओं का चयन, एससीओ अधिकारियों तथा नमक क्लस्टर लीडरों से किया जाता है। तत्पश्चात ये मास्टर प्रशिक्षु नमक उत्पादन में लगे नमक कामगारों/कारीगरों को प्रशिक्षण के लिए पात्र होते हैं।

     

    (III)

    पिछले 5 वर्षों से बजट उपलब्धता उपयोग

    (कृपया नीचे तालिका-I एवं II देखें)

     

    (IV)

    पिछले वर्ष के अंत तक के लक्ष्यों की तुलना में वास्तविक प्रगति तथा वर्ष 2018-19 के दौरान

    (कृपयानीचे तालिका –III देखें)

     

     

    (V)

    विशेषताएं

    • नमक कारीगर अभी भी नमक उत्पादन हेतु पुरानी पद्धति अपना रहे हैं और नमक कार्यों का लेआउट पुराना है। इसलिए, निश्चित जलवायु स्थितियों के तहत प्रति एकड़ उच्च उपज के साथ अच्छी गुणवत्ता नमक उत्पादन के लिए उनको प्रशिक्षण दिया जाना आवश्यक है।

     

    • योजना का उद्देश्य आधुनिक नमक प्रौद्योगिकी की जानकारी के लिए नमक कामगारों को प्रशिक्षण देना है ताकि उत्पादित नमक की गुणवत्ता तथा मात्रा में सुधार किया जा सके।

     

    • प्रशिक्षण के दौरान, 20 मास्टर प्रशिक्षुओं को नमक विनिर्माण रसायन, नमक कार्यों के डिजाइन तथा लेआउट, सोलर नमक की धुलाई, बिटर्न प्रोसेसिंग के माध्यम से मूल्य वर्धन, सोलर नमक कार्यों का अर्ध-मशीनीकरण, विश्लेषणात्मक तकनीक तथा मृदा विश्लेषण, आयोडीन तथा आयरन के साथ सोलर नमक का फोर्टीफिकेशन और नमक उद्योग में औद्योगिक सुरक्षा तथा जोखिम प्रबंधन पर 5 दिवस की अवधि का प्रशिक्षण दिया जाता है।

     

    • द्वितीय चरण में, इन मास्टर प्रशिक्षुओं द्वारा स्थाानीय भाषा में उनके संबंधित राज्य में नमक कामगारों/कारीगरों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। उक्तन प्रत्येक प्रशिक्षण कार्यक्रम में 30 नमक कामगारों को प्रशिक्षण दिया जाता है।

     

    • मास्टर प्रशिक्षुओं के लिए प्रत्येक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने की लागत 5 लाख रुपए तथा नमक कारीगरों के लिए प्रत्येक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने की लागत 3 लाख रुपए है।

     

    (VI)

    कार्यान्वयन एजेंसीः

    नमक आयुक्त संगठन (एससीओ)

    निगरानी एवं समीक्षा तंत्र

    संयुक्त सचिव, डीआईपीपी की अध्यक्षता में केन्द्र स्तरीय समिति जिसमें नमक आयुक्त, निदेशक (वित्त), डीआईपीपी, शामिल हैं।

    (VII)

    निदेशक (सीएसएमसीआरआई), संबंधित राज्य सरकार के उद्योग आयुक्त/सचिव सदस्यों के रूप में और उप सचिव (नमक), डीआईपीपी सदस्य-सचिव के रूप में शामिल हैं।

     

    (VIII)

    मूल्यांकन परिणाम, यदि कोई हों:

     

    शून्य

  2. योजना संबंधी दिशानिर्देश (खोजने योग्य पीडीएफ/दस्तावेज के रूप में) 31.10.2018 तक संशोधित

  3. स्वः व्याख्यात्मक रूप में विषय दर्शाते हुए फाइल नाम सहित परिपत्र/अधिसूचनाएं/आदेशः
    फा.सं. 15011/1/2014-नमक दिनांक 20.02.2015 और पत्र सं. 15011/1/2014-नमक दिनांक 26.09.2013 एवं 30.07.2014

    प्रत्येक योजना/कार्यक्रम के लिए उपलब्ध बजट

    तालिका-I

    (राशि करोड़ रु. में)







    वित्त वर्ष

    आबंटन

    व्यटय

    2013-2014

    0.10

    0.0111

    2014-2015

    0.30

    0.2419

    2015-2016

    0.40

    0.1885

    2016-2017

    0.30

    0.1377

    2017-2018

    0.06

    0.0463

    तालिका-II

    (वर्ष 2018-19-राशि करोड़ रु. में)






    तिमाही

    आवंटन

    व्यंय

    तिमाही -1

    -

    -

    तिमाही 2

    -

    -

    तिमाही 3

    0.09

    -

    तिमाही 4

    0.06

    -

    तालिका-III

    वित्त वर्ष

    प्रशिक्षण कार्यक्रमों की संख्याव संबंधी लक्ष्यक

     

    उपलब्धि(प्रशिक्षण कार्यक्रमों की सं.)

    2013-14

    05

    01

    2014-15

    20

    18

    2015-16

    20

    02

    2016-17

    20

    06

    2017-18

    02

    02

    योग

    67

    29

    2018-19

    05

    04

    कुल योग

    72

    33


more...