मुख पृष्ठ Policies and Schemes इंडिया इंटरनेशन कन्‍वेन्‍शन एंड एक्सपो सेंटर (आईआईसीसी, द्वारका)

इंडिया इंटरनेशन कन्‍वेन्‍शन एंड एक्सपो सेंटर (आईआईसीसी, द्वारका)

Brief about the Scheme

भारत सरकार ने वर्ष 2025 तक 25,703 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत पर पीपीपी और गैर-पीपीपी माध्‍यम से सेक्टर-25, द्वारका में इंडिया इंटरनेशन कन्‍वेन्‍शन एंड एक्सपोसेंटर (आईआईसीसी) और सहयोगी अवसंरचना के निर्माण एवं विकास कार्य को अनुमोदित किया है। प्रदर्शनी एवं कन्‍वेन्‍शन स्‍थान, कार्यक्षेत्र, प्रमुख अवसंरचना, मेट्रो/भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण संपर्कता,होटल, कार्यस्थल और रिटेल स्‍थान आदिका विकास परियोजना में परिकल्पित है।परियोजना के क्रियान्वयन हेतू, 19 दिसंबर, 2017 को उद्योगसंवर्धन और आंतरिकव्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा भारत सरकार की 100 प्रतिशत स्वामित्वएवं नियंत्रित एक विशेष प्रयोज्‍य योजना (एसपीवी) अथार्त इंडिया इंटरनेशनल कन्‍वेन्‍शन एवं एक्‍जीबिशन सेंटर लिमिटेड (आईआईसीसी) का गठन किया गया है।इस परियोजना का विकास दो चरणों में प्रस्तावित है। 2020 तक एक्‍जीबिशन कम कन्‍वेन्‍शन सेंटर सहित प्रमुख अवसंरचना वाला परियोजना का चरण-1 कार्यान्वित होने का अनुमान है। यह चरण गैर-पीपीपी घटक के रूप में विकसित हो रहा है। शेष प्रदर्शनी क्षेत्र वाला परियोजना का चरण-2 जैसे होटल, खुदरा क्षेत्र और अन्य को पीपीपी विकासको द्वारा विकसित किया जाएगा और 2025 तक पूर्ण होगा।

लॉरसेन एंड टर्बो को चरण-I के निर्माण के लिए ईपीसी कान्‍ट्रेक्‍टर नियुक्‍त किया गया है। कार्यस्थल पर इस्पात संरचना का निर्माण और अन्य निर्माण कार्य शुरू हो गए हैं।

भारत के माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा दिनांक 20 सितंबर, 2018 को परियोजनाका शिलान्‍यास किया गया था।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (डीएमआरसी) द्वारा आईआईसीसी परियोजना तक एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के विस्तार के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं और कार्यस्थल पर निर्माण कार्य चल रहा है।

परियोजनाकीवर्तमानस्थितिइसप्रकारहै:-

  1. साईट पर की गई प्रगति निम्नलिखित हैं। एक्‍जीबिशन हॉल-3 के अन्तर्गत डीएमआरसीद्वारासुरंग निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है और आगे के निर्माण कार्यों के लिए लॉरसेन एंड टर्बो कोसौंप दिया गया है।

  2. डीएमआरसी से संबंधित मेट्रो स्टेशन के लिए कार्य और अन्य कार्य पूरी तेजी पर है।

  3. आईआईसीसी द्वारका को थोक बिजली आपूर्ति के लिए बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड (बीआरपीएल)और आईआईसीसी के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं। केबल बिछाने और जीआईएस सबस्टेशन का निर्माणकार्य प्रगति पर है।

  4. बाहरी संपर्क के लिए 18.66 एकड़ भूमि के अधिग्रहण के लिए एनएचएआई को भुगतान हस्तांतरित कर दिया गया है। इसके अलावा, एनएचएआई ने द्वारका एक्सप्रेसवे के विकास के पैकेज- II के लिए एलओए को सम्मानित किया है (जिसमें आईआईसीसी द्वारका के लिए सड़क संपर्क शामिल है)

    कोरिया अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र (किन्तेक्स)और ईसेन्‍ग नेटवर्क कंपनी लिमिटेड के एक संघकिनेक्सिनकन्वेंशनमैनेजमेंटप्राइवेटलिमिटेडको प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर के लिए ऑपरेटर के रूप में नियुक्त किया गया है।
    आईआईसीसीके चरण -1 के लिए ऋण जुटाने के लिए आईडीबीआई पूंजी बाजार और प्रतिभूति लिमिटेड को वित्तीय सलाहकार के रूप में नियुक्त और अनुबंधित किया गया है। आईआईसीसी के बोर्ड की मंजूरी के साथ एसबीआई से रु 2150.16 करोड़ तक की एक अवधिऋणराशि को अंतिम रूप दिया गया है।

  5. कार्यस्थल पर निर्माण की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए, "थर्ड पार्टी क्वालिटी एश्योरेंस एंड ऑडिट" (टीपीक्यूए) के परामर्श सेवाओं के लिए राष्ट्रीय सीमेंट एवं भवन सामग्री परिषद् (एनसीसीबीएम) की नियुक्ति की गई है।

  6. एनएचएआई ने द्वारका एक्सप्रेसवे के विकास के पैकेज- II के लिए जे कुमार इन्फ्राप्रोजेक्ट लिमिटिड को एलओए सम्मानित किया है (जिसमें आईआईसीसी द्वारका के लिए सड़क संपर्क शामिल है)।


more...